मकर राशि के लोगो का स्वभाव

मकर राशिमकर राशि के स्वामी शनि देव बनते हैं। शनि देव को न्यायाधीश भी कहा जाता हैं।  शनि देव के प्रभाव से मकर राशि, राशि चक्र की सबसे स्थायी और गंभीर राशि है।ये लोग भरोसेमंद आत्म अनुशासित और जिम्मेदार प्रकृति के होते हैं। कठोर मेहनत करना इनकी आदत होती है। तर्क-वितर्क करनेमें कुशल होते हैं।
अनुशासनहीनता इन्हें बिल्कुल पसंद नहीं होती। इसके लिए किसी का भी विरोध करने से नहीं चूकते फिर चाहे ये अकेले ही क्यों ना हों।

 

ये शान्त स्वभाव के होते हैं। मकर राशि से प्रभावित लोग कम बोलने वाले होते हैं। ये देखने में सुस्त लग सकते हैं। किन्तु मानसिक रूप से बहुत चुस्त होते हैं मकर राशि वाले जातक गहरी सोच वाले होते हैं।  इनकी मानसिक शक्ति और एकाग्रता प्रबल होती है।
इनके लिए इनका आत्मसम्मान सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है। और अपने लक्ष्यों को पाने के लिए जिद्दी होने की हद तक समर्पित होते हैं ।

ये अति महत्वाकांक्षी होते हैं । अपने प्रत्येक कार्य को बहुत योजनाबद्ध ढंग से करते हैं।सम्मान और सफलता प्राप्त करने के लिये लगातार कार्य करते रहते हैं।

मकर राशि के जातक स्वभाव से गंभीर, संवेदनशील, उच्चाभिलाषी व धार्मिक प्रवृत्ति वाले होते हैं। भली बुरी बात की पहचान करने में कुशल होते हैं। ये बिना रूके निरन्तर कार्यो में अग्रसर रहते हैं। ये बहुत बुद्धिमान धैर्यवान और, विश्वसनीय होने के कारण एक महान मित्र हो सकते हैं। लेकिन मकर राशि  वालो का दिल जीत पाना बहुत मुश्किल होता हैं।

ये अपने गंभीर स्वभाव के कारण आसानी से किसी को मित्र नही बनाते हैं। ये मित्रता स्थापित करने में अत्यंत सावधान रहते हैं ।
ये अपने मित्रों के रूप में ईमानदार और वफादार लोग चाहते हैं। इनके मित्र अधिकतर  कार्यालय या व्यवसाय से ही सम्बन्धित होते हैं।मकर राशि मे पैदा हुए लोग शब्दों के बजाय कार्यों के माध्यम से ही अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हैं ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *